दीक्षा पोर्टल क्या है। इसके प्रमुख बिंदु एवं लाभ (diksha portal in hindi)

0
32

सरकार ने दीक्षा पोर्टल नामक इस पोर्टल को लॉन्च किया है जिसके तहत शिक्षकों को राष्ट्रीय डिजिटल अवसंरचनात्मक ढांचा उपलब्ध कराया जाएगा इस पोर्टल का उद्देश्य देश के सभी शिक्षकों को आधुनिक डिजिटल प्रौद्योगिकी युक्त बनाना है

दीक्षा पोर्टल के प्रमुख बिंदु

यह मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक पहल है जिसके माध्यम से शिक्षकों की जीवन शैली को अधिक से अधिक डिजिटल बनाने के लिए उन्हें एक डिजिटल मंच उपलब्ध कराया जाएगा

दीक्षा पोर्टल को एक टैगलाइन नेशनल डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर ओवर टीचर के साथ लांच किया गया है

इस पोर्टल में शिक्षक के संपूर्ण जीवनकाल (जबसे एक विद्यार्थी के रूप में शिक्षक शिक्षा संस्थान में पंजीकृत होते हैं तब से लेकर उनके सेवानिवृत्त होने तक )शामिल किया जाएगा

इसके तहत शिक्षक स्वयं को उन सभी चीजों के लिए प्रशिक्षित कर सकते हैं जिनके संबंध में मूल्यांकन के संसाधन उपलब्ध हो

शिक्षकों द्वारा इस पोर्टल का उपयोग निम्नलिखित संदर्भों में किया जा सकता है

  • शिक्षक प्रशिक्षण सामग्री
  • शिक्षकों का परिचय
  • कक्षा संसाधन
  • मूल्यांकन सहायता
  • समाचार और घोषणाएं
  • शिक्षक समुदाय

दीक्षा पोर्टल के लाभ

यह अध्यापकों को उनके शिक्षण कौशल को विकसित करने में सहायता करेगा

उनके कौशल और ज्ञान के साथ उनकी स्वयं की प्रोफाइल का सर्जन करेगा

दीक्षा पोर्टल नवीनतम प्रौद्योगिकी के उपयोग से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करने में सहायता करेगा

न केवल सरकार बल्कि निजी संस्थानों और एनजीओ को भी दिखा पहल में भाग लेने की अनुमति दी गई है

दीक्षा पोर्टल ऑफिसियल वेबसाइट – https://diksha.gov.in/

पीएमई-विद्या

इस नाम से एक व्यापक पहल शुरू की जाएगी जो डिजिटल ऑनलाइन अन्य शिक्षा से संबंधित सभी प्रयासों को एक साथ जुड़े गी यह शिक्षा के लिए वैकल्पिक पहुंच उपलब्ध कराएगा इसमें दीक्षा एक राष्ट्र एक पिस्टल प्लेटफार्म दो सभी राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों के लिए स्कूली शिक्षा में गुणवत्ता की सामग्री प्रदान करने के लिए देश का डिजिटल बुनियादी ढांचा बन जाएगा टीवी (एक कक्षा 1 चैनल) जहां कक्षा 1 से 12 तक प्रत्येक छात्र के लिए प्रति ग्रेड एक समर्पित चैनल होगा जो गुणवत्ता युक्त शैक्षिक सामग्री तक पहुंच प्रदान करेगा

उच्च शिक्षा में ई लर्निंग

सरकार खुली दुगरी और ऑनलाइन शिक्षा नियामक ढांचे को आधार बनाकर उच्च शिक्षा में ई लर्निंग का विस्तार कर रही है सीड्स शॉप विश्वविद्यालय ऑनलाइन पाठ्यक्रम शुरू करेंगे साथ ही पारंपरिक विश्वविद्यालयों और लो डीएल पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन घटक भी वर्तमान 20% से बढ़ाकर 40% किया जाएगा

राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और शैक्षणिक ढांचा

वैश्विक बेंचमार्क के अनुरूप ही छात्रों और शिक्षकों के भविष्य के लिए एक नया राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और शैक्षणिक ढांचा तैयार करने का निर्णय लिया गया है

राष्ट्रीय साक्षरता और न्यूमेरसी मिशन

देश में प्रत्येक बच्चे तक ग्रेड-3 में साक्षरता और न्यूमेरसी की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय साक्षरता और न्यूमेरसी मिशन शुरू किया जाएगा इसके लिए शिक्षकों में साक्षरता निर्माण एक मजबूत पाठ्यक्रम ढांचा सीखने की सामग्री को आकर्षण बनाने ऑनलाइन और ऑफलाइन सीखने के परिणामों और उनके माप सूचकांकों मूल्यांकन तकनीकों तथा सीखने के प्रगति पर नजर रखने जैसे कार्यों को एक व्यवस्थित रूप दिया जाएगा इस मिशन से तीन से 11 वर्ष के आयु वर्ग के लगभग चार करोड़ बच्चे लाभान्वित होंगे

इन्हे भी देखें

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और इसके कार्य (university grants commission)

राष्ट्रीय व्यावसायिक शिक्षा परिषद : का स्वरूप, कार्य, स्थापना से होने वाले लाभ (National vocational education council )

भारत के राष्ट्रीय राजनैतिक दल 2022

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here